Tuesday, September 25, 2018

एलोवेरा की खेती कर लाखो कमाये

एलोवेरा की खेती करके आप अपनी आय को कई गुना तक बड़ा सकते हैं |



हेलो दोस्तों में आपका दोस्त लेकर आया हु एक नया तरीका जिससे आप अपनी आय को बड़ा सकते हैं और अच्छा मुनाफा कमा सकते हैं।
आइये जानते हैं एलोवेरा की खेती के बारे में एलोवेरा जिसे घृतकुमारी के नाम से भी जाना जाता हैं ,यह एक बहु उद्देशीय ओषधीय गुणों बाली फसल हैं इसके प्रयोग से कई दवाये ,जूस सौंदर्य प्रसाधन और अन्य चीजे बनती हैं अतः इस बात से अंदाजा लगया जा सकता हैं की इसकी कितनी मांग होगी । एलोवेरा की डिमांड बड़ी बड़ी कम्पनी में हैं जिनमे प्रमुख्य हिमालय , पतंजलि और अन्य प्रमुख कंपनी हैं।
अब हम विस्तार से एलोवेरा की खेती के बारे मे जानते हैं ,एलोवेरा की खेती के सम्बन्ध में कुछ प्रश्न मन में उठते हैं मै यहाँ उनका समाधान करने की कोसिस करूँगा इसके अतिरिक्त कोई अन्य प्रश्न आपके मन में रह जाते ह तो आप मुझे मेल कर सकते हैं ।

आइये जानते हैं -

प्रश्न 1 एलोवेरा की खेती के लिए किस प्रकार की मिट्टी की जरूरत होती हैं?
उत्तर: एलोवेरा की खेती के लिए कोई प्रमुख्य मिट्टी की आवश्यकता नहीं होती बल्कि यह सभी प्रकार की मिटटी में हो जाती हैं, बस इस बात का ध्यान रखा जाये कि खेत मे अधिक समय तक पानी न भरा रहे अर्थात water logging condition नहीं होना चाहिए।
प्रश्न 2 कितने पोधो की जरुरत होती हैं ?
उत्तर : 1 एकड़ के क्षेत्र में लगभग 12000 तक एलोवेरा के बेबी प्लांट लगते हैं। (50,000 to 55,000 plant per hactere).
प्रश्न 3 पौधों को किस समय लगाया जाता हैं
उत्तर : एलोवेरा की फसल को सभी समय यानि की 12 महीने लगाया जा सकता है लेकिन इसके लिए गर्मी का समय उपयुक्त होता हैं।
प्रश्न 4 खेत की तैयारी कैसे करे ?
उत्तर : खेत की तैयारी कोई विशेष् नहीं होती है बस खेत में गोबर की खाद मिलाकर अच्छी तरह से जुताई करते है ।
प्रश्न 5 पौधों से पौधों की दुरी कितनी रखे ?
उत्तर : एलोवेरा की अच्छी खेती के लिए उचित दुरी पर फसल लगाना चाहिए इसके लिए 1.5×1.5 या 2×2 फ़ीट की दुरी पर पोधे लगाते हैं। ( 40×45 cm or 60×30 cm.)
प्रश्न 6 पानी एवम् सिंचाई की आवश्यकता?
उत्तर : एलोवेरा के लिए बहुत अधिक पानी की जरुरत नहीं होती । खरीफ के समय पानी की आवश्यकता नहीं होती हैं , रबी के समय 30 से 35 दिन में सिंचाई की जाती हैं और गर्मी में सिंचाई 15 से 20 दिन के अन्तराल पर की जाती हैं।
प्रश्न 7 एलोवेरा की अच्छी किस्मे कोनसी हैं ?
उत्तर : एलोवेरा की खेती के लिए देशी या घर में प्रयोग की जाने बाली किस्मे प्रयोग नहीं की जाती हैं इसके लिए एलोवेरा बारबेडेन्सीस मिलर और मिलर 2 उपयुक्त होती हैं इसके अतिरिक्त भी अच्छी किस्मे होती हैं ।
प्रश्न 8 फसल की कुल अवधि कितने समय होती हैं?
उत्तर : फसल की बुआई से लेकर यह 5 से 7 साल तक चलती हैं ।
प्रश्न 9 फसल की कितनी कटाई की जाती हैं ?
उत्तर : फसल लगाने के पहले साल में एलोवेरा की कटाई 1 साल में तैयार होती हैं इसके बाद प्रत्येक 6 माह के अंतराल पर कटाई की जाती हैं।
प्रश्न 10 फसल की उपज कितनी होती हैं ?
उत्तर : एलोवेरा की उपज प्रति पौधा 3 से 5 kg तक होती हैं इस प्रकार से एक एकड़ में 12000 × 4 = 48000 kg तक उत्पादन होता हैं यह उत्पादन कम या ज्यादा हो सकता हैं ये आपके ऊपर निर्भर करता हैं।

 सबसे प्रमुख सबाल यह होता हैं की उपज को कहा बेंचे तो आइये जानते हैं की आप एलोवेरा को कहा बेच सकते हैं -

सबसे बड़ी समस्या फसल को बेचने की होती हैं तो आप इसके लिए उन कंपनी को contact कर सकते है जो एलोवेरा के उत्पाद बनाती है जेसे हिमालय ,पतंजलि आदि ।
दूसरा आप अपनी उपज को indiamart या अन्य साईट पर ऑनलाइन प्रोडक्ट को बेच सकते हैं।
तीसरा आप कॉन्ट्रैक्ट बेसिस पर फार्मिंग करके अपने उपज को कॉन्ट्रैक्टर को बेच सकते हैं।

एलोवेरा की खेती में खर्चा एवम् लाभ -

एलोवेरा की खेती में आप को 12000 लगभग पोधे लगते है और एक बेबी प्लांट की कीमत होती है 3 से 5 रुपया प्रति प्लांट = 60,000 रूपये प्रति एकड़
इसके अतिरिक्त सिचाई और अन्य खर्चे अलग से होते हैं।
आय -
आपको प्रति पौधा औसत उपज होती ह 4 kg  प्रति पौधा तो एक एकड़ में उपज 12000×4 = 48000 kg.
एलोवेरा की फसल 3 से 5 रूपये kg तक मार्केट में बिक जाता है अतः 48000×3 =144000 रूपये ।
इस प्रकार आप एलोवेरा की खेती करके अच्छा लाभ कमा सकते है।
नोट - लागत और लाभ कम या ज्यादा हो सकता है ये आपके मार्केट और आपकी मेहनत पर निर्भर करता हैं।
आपको ये ब्लॉग कैसा लगा आप हमे जरूर बताइए और आपका कोई प्रश्न हो तो जरूर हमे भेजे।
धन्यवाद मिलते है एक नए आईडिया के साथ।
आपका दिन शुभ हो।

6 comments:

Share and comment