Friday, July 19, 2019

किसानो की कर्जमाफी पर विशेषज्ञों की राय


भारत में किसानो की कर्जमाफी का वादा राजनीति में चुनाव जीतने का गारंटेड फॉर्मूला बनता जा रहा हैं।
किसानो की कर्जमाफी होती भी हैं किन्तु किसानो की हालात देश में जस की तस हैं उनके जीवन स्तर में कोई सुधार नहीं होता हैं।

 इस पर विशेषज्ञ कहते हैं -
1.आर.बी.आई. के पूर्व गवर्नर और कई कृषि विशेषज्ञ इस तरह कर्ज माफ़ी को ठीक नहीं मानते ।
राजन ने कहा कि इससे क्रेडिट कल्चर ख़राब होता हैं। उन्होंने चुनाव आयोग से राजनीतिक दलों के ऐसे वादों के खिलाफ कदम उठाने के लिए पत्र भी लिखा हैं ।
2. कृषि वैज्ञानिक एमएस स्वामीनाथन भी ऋण माफ़ी को उचित नहीं मानते । वे कहते हैं - यह तरीका लंबे समय में व्यावहारिक नहीं हैं । लोन माफ़ करना सही नहीं हैं , लेकिन सरकारे राजनीतिक दबाव में ऐसा करती हैं। 

0 comments:

Share and comment